मिर्जा-साहिबा की प्रेम कहानी | Mirza Sahiba Story in Hindi


Mirza Sahiba Story in Hindi : प्रेम कहानियां युगों युगों से हमारी समाज का हिस्सा रही है. वर्तमान समय की और पुराने समय की प्रेम कहानियों में काफी अंतर देखने को मिलता है. जहां आजकल सिर्फ और सिर्फ मतलब या लालच को देख कर एक दूसरे को चाहते हैं, वहीं दूसरी तरफ हमारे ऐतिहासिक प्रेमियों ने अपने इश्क़ को अंजाम देने के लिए जान तक की बाजी लगा दी.

मैं कभी-कभी सोचने पर मजबूर हो जाता हूं कि-- वो कैसे लोग थे? जो दुनिया से विपरीत चले थे. उनका प्यार के लिए जुनून और पागलपन इस कदर था कि उन्होंने अपने प्यार की खातिर अपने प्राणों की आहुति दे दी. इन सब Love Stories में से मिर्जा साहिबा का नाम भी प्रमुख श्रेणी में दर्ज है. इस प्रेम कहानी का इतिहास बाकी प्रेम कहानियों के उलट और अनोखा है. इसीलिए! आज हम इस लेख के माध्यम से आपको 'Mirza Sahiba Love Story' से रूबरू कराएंगे. तो चलिए दोस्तों जानते हैं "Mirza Sahiba Story in Hindi" में.

Read More- 
 ■ जोधा अकबर की प्रेम कहानी
"प्यार का सबक" (Short Love Story in Hindi)
■"इसे कहते हैं सच्चा प्यार" एक लड़के की अद्भुत प्रेम कहानी

मिर्जा-साहिबा की प्रेम कहानी - Mirza Sahiba Story in Hindi

Mirza Sahiba

इस कहानी की शुरुआत होती है पंजाब से. देखा जाए तो पंजाब की धरती कई प्रेम कहानियों की जन्मदाता है. जिसमें से मिर्जा-साहिबा की प्रेम कहानी भी एक है. इस मोहब्बत की दास्तान की शुरुआत होती है मिर्जा और साहिबा की बचपन मैं दोस्ती से. यही दोस्ती कब प्यार में बदल गई किसी को नहीं पता चला. दोनों एक ही मदरसे में पढ़ते थे. दोनों के अंदर इश्क का कीड़ा कब पनपा और यह कीड़ा जुनून में कब तब्दील हो गया कोई नहीं जानता.

 लेकिन कहते हैं! कि 'इश्क और मुश्क छुपाए नहीं छुपते'. धीरे-धीरे Mirza Sahiba की प्रेम कहानी के चर्चे हर गली मोहल्ले में होने लगे. जब मिर्ज़ा साहिबा के इश्क की खबर साहिबा के घरवालों को पता चली तो उन्होंने मिर्जा को गांव से भगा दिया और साहिबा की शादी किसी और व्यक्ति के साथ तय कर दी. जब यह बात मिर्जा को पता चली तो मिर्जा साहिबा को शादी वाले दिन ही भगा ले गया.

क्या साहिबा ने दिया था मिर्ज़ा को धोखा?-

इतिहासकारों की मानें तो बताया जाता है कि मिर्ज़ा उस समय तीरंदाजी का अर्जुन माना जाता था. लोक कथाओं के अनुसार मिर्जा किसी को भी एक तीर के माध्यम से मारने की काबिलियत रखता था. साहिबा भी मिर्जा की इस काबिलियत से अच्छी तरह वाकिफ थी. Mirza Sahiba की प्रेम कहानी में कई साहित्यकारों ने साहिबा को धोखेबाज बताया है.

 दरअसल साहिबा जब मिर्जा के साथ भाग रही थी, तो  दोनों भागते-भागते काफी थक चुके थे. इसीलिए मिर्जा ने आराम करने का फैसला किया. साहिबा को पता था कि अगर उसके भाई यहां उसे ढूंढते ढूंढते हुए आए तो मिर्जा उन्हें मार देगा. इसीलिए साहिबा ने अपने भाइयों को बचाने के लिए मिर्जा के सारे तीर तोड़ दिए.

जब साहिबा के भाई उन्हें ढूंढते हुए उस जगह पहुंचे, जहां मिर्जा और साहिबा आराम कर रहे थे. तब साहिबा के भाइयों ने मिर्जा की तरफ तीर चलाना शुरू कर दिये. जब मिर्ज़ा को पता चला कि साहिबा के भाई उसे मारने के लिए आए हैं, तो उसने भी अपने तीर कमान को उठाया. जब मिर्जा ने तीरों को देखा तो मिर्जा को सारे तीर टूटे हुए पाए. मिर्जा को समझते हुए देर न लगी, कि साहिबा ने तीरो को क्यों तोड़ा हैं. लेकिन फिर भी मिर्जा ने साहिबा को माफ कर दिया.


मिर्जा-साहिबा की प्रेम कहानी का अंत - Mirza Sahiba Love Story Sad Ending

मिर्जा साहिबा की प्रेम कहानी के अंत के बारे में इतिहासकारों की दो मत हैं! एक मत के अनुसार बताया जाता है कि-- "जब साहिबा के भाई मिर्जा की तरफ तीर दाग रहे थे तो साहिबा उसके बीच में आकर उन तीरो को खुद पर बार लेती थी. इस तरह साहिबा का शरीर तीरों से छलनी हो गया. मिर्जा यह देख कर दुखी हो गया और उसने साहिबा को हटाकर तीर अपने सीने पर ले लिए और दोनों की जीवन लीला वही समाप्त हो गई".

 दूसरी कहानी के अनुसार-- "मिर्जा ने मरते समय साहिबा से वचन ले लिया था कि वह जिंदा रह कर शादी करेगी और खुशी से अपना जीवन जियेगी. इस कहानी में बताया जाता है कि मिर्जा की शादी हुई थी, और उसके बच्चे भी हुए थे. लेकिन वह अंत तक प्यार मिर्जा से ही करती रही. वह अपने पति में मिर्जा को देखती थी. लोकगीतों में मिर्जा की कहानी के अंश आपको सुनने को मिल जाएंगे.

Related articles
 एक ऐसी कहानी जो आपके दिल को छू जाएगी
एक पिता की दिल को छू जाने वाली कहानी
■ एक लड़की की रुला देने वाली सैड लव स्टोरी
■ ढोला मारू की राजस्थानी प्रेम कहानी
Top 10+ Love Stories Books In Hindi |भारत के 10 बेहतरीन उपन्यास


loading...
Note :- दोस्तों! आपको "Mirza Sahiba Story in Hindi" कैसी लगी आप हमें अपने सुझाव और विचार नीचे कमेंट के माध्यम से बता सकते हैं. यदि आपको "मिर्जा साहिबा प्रेम कहानी" पसंद आई हो तो अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करें. यदि आप हमसे बात करना चाहते हैं, तो हमारे Contect Us पेज और Facebook पेज पर हम से कांटेक्ट कर सकते हैं.धन्यवाद😊

सभी आर्टिकल देखने के लिए-यहाँ क्लिक करें



Read More Love Stories
■ सत्यवान सावित्री की अद्भुत  प्रेम कहानी
हीर रांझा की अद्भुत प्रेम कहानी
■ सोनी महिवाल की विचित्र प्रेम कहानी
रोमियो जूलियट की दर्द भरी प्रेम कहानी
लैला मजनू की रुला देने वाली सच्ची प्रेम कहानी
"सच्चा वाला प्यार"(Romantic Love Story in Hindi)




Comments

Popular posts from this blog

एक लड़की की अधूरी लव स्टोरी | Heart Touching Hindi Love Story

एक लड़के की विचित्र लव स्टोरी | Sad Romantic Short Love Story in Hindi

Arunima Sinha के साहस और जुनून की कहानी [हिंदी]