एक साधु और राजा की कहानी | Moral Kids Story in Hindi


Moral Kids Story in Hindi (राजा की कहानी) : हैल्लो मित्रो, आज मैं आपसे शेयर करूंगा 'Moral Kids Story' (एक साधु और राजा की कहानी)। वैसे तो यह कहानी बच्चों की कहानी है, लेकिन  इस कहानी में जो शिक्षा छुपी है, वो असाधारण है। तो चलिए पढ़ते हैं इस "Kids Story" को और जानने का प्रयास करते हैं कि इस हिंदी स्टोरी मैं क्या शिक्षा छुपी है।

एक साधु और राजा की कहानी - Moral Kids Story in Hindi

Kids Story in Hindi

प्राचीन समय की बात है अजबगढ़ नामक राज्य में कुबेर सिंह नाम का एक राजा राज्य करता था। Raja स्वभाव से बहुत ही दयालु था। वह गरीब और बेबस लोगों की हमेशा सहायता करता था। किसी गरीब पर जुल्म होते देख वह कड़ी कार्यवाही करता था। राजा के इसी स्वभाव से अजबगढ़ की प्रजा बहुत प्रसन्न रहती थी।  राजा की भी एक ही इच्छा थी कि वह अपनी प्रजा को हमेशा खुश रख सके। लेकिन फिर भी राजा को हमेशा ऐसा लगता था कि उसकी प्रजा खुश नहीं है।


इसीलिए अक्सर राजा प्रजा का हाल-चाल जानने के लिए भेष बदलकर शहर में घूमा करता था, और लोगों की राय जाना करता था। इसी तरह एक बार राजा घूमते-घूमते शहर से बाहर जंगल की तरफ निकल गया। राजा के सभी साथी पीछे रह गए और वह एक जंगल में भटक गया। राजा ने अपनी चारों तरफ देखा कोई दिखाई नहीं दीया। वह भूख से व्याकुल था और शाम भी होने वाली थी। तभी राजा को एक ऋषि की कुटिया दिखाई दी। कुटिया देखकर राजा की जान में जान आई।

 उसी समय राजा ने रात वहीं व्यतीत करने का फैसला किया। जब Raja ऋषि के आश्रम पर पहुंचा तो वहां पर एक ऋषि तपस्या में लीन थे और चारों तरफ बहुत ही सुंदर वातावरण था। चिड़िया चहक रही थी। पेड़ों से रस भरे फल लटक रहे थे और वातावरण बिल्कुल शांत प्रतीत होता था। राजा ने घोड़े से उतर कर ऋषि के समीप जाकर प्रणाम किया। ऋषि ने वह आवाज सुन कर आंखें खोली तो एक सुंदर नौजवान युवक को सामने पाया, जिसके मुख से तेज झलक रहा था। राजा को देखकर ऋषि सब कुछ समझ गए।

राजा ने ऋषि से रास्ता भटक जाने की बात बताई और वहां रात गुजारने के लिए अनुमति मांगी। ऋषि ने राजा को रुकने की अनुमति दे दी और राजा को खाने के लिए स्वादिष्ट फल दिए। जब राजा ने उन फलों को खाया तो राजा को वह फल अत्यंत मीठे और स्वादिष्ट लगे। राजा ने इससे पहले इतने मीठे फल कभी नहीं खाए थे। राजा ने ऋषि से फलों के इतने मीठे होने का कारण पूछा। राजा की यह बात सुनकर ऋषि ने कहा-- "यहां का राजा दयालु और न्याय प्रिय होगा। वह गरीबों की सहायता करता होगा। वह प्रजा के दुख दूर करने वाला होगा। इसीलिए यह फल इतने मीठे है"।

लेकिन राजा को इन सब बातों पर यकीन नहीं हो पा रहा था। पर राजा इन बातों को झुठला भी नहीं पा रहा था। इसीलिए राजा ने निरीक्षण करने का निर्णय लिया। सुबह होते ही राजा शहर की तरफ निकल पड़ा और राजधानी में वापस पहुंचने के बाद उसने अत्याचार करना शुरु कर दिया। उसने प्रजा पर कर बढ़ा दिए। अब राजा गरीबों को परेशान करने लगा पूरे राज्य में हाहाकार मच गया। ठीक 1 महीने बाद राजा फिर उसी जंगल में उस आश्रम पर जा पहुंचा।

 जब राजा ने उस आश्रम को देखा तो वह भौचक्का रह गया। क्योंकि जहां पर पहले पेड़ हरे भरे थे वह सब पेड़ सूख रहे थे। फलो में कीड़े लग रहे थे। चिड़ियां सीख रही थी। तभी घोड़े की आहट पाकर ऋषि अपनी कुटिया से बाहर आए और राजा को बिठाया। ऋषि ने राजा को ताजी फल खाने के लिए दिए। जब राजा ने फलों को खाया तो उसका पूरा मुंह कड़वाहट से भर गया। राजा ने ऋषि से फलो की कड़वाहट का कारण पूछा।

राजा किस बात का जवाब देते हुए ऋषि ने कहा-- "अब यहां का राजा बदल गया है। जो प्रजा को दुखी करता है और प्रजा में कड़वाहट फैलाता है।  इसीलिए सभी फलों का स्वाद कड़वा हो गया है। यह सब देखकर राजा बहुत प्रभावित हुआ और ऋषि को प्रणाम कर वापस लौट आया। राजा ने अगले दिन से ही पहले जैसा राज्य चलाने लगा। वह फिर से लोगों की सहायता करने लगा और उसके बदलने से फलों और प्राकृतिक में फिर से स्वाद आ गया और प्रजा फिर से सुखी रहने लगी।

Story of Moral in Hindi :

इस कहानी का तात्पर्य यह है - "कभी किसी की जिंदगी में कड़वाहट नहीं घोलनी चाहिए अन्यथा उस कड़वाहट का असर आपको अपने निजी जीवन में देखने को मिलेगा। आपने वह कहावत तो सुनी ही होगी कि जो दूसरों के लिए गड्ढे खोदते हैं ,वह उसमें स्वयं जाकर गिरती है"!!

 संबंधित प्रोडक्ट (Marchandise)

यदि आप मनोरंजन के साथ-साथ अच्छी शिक्षा प्राप्त करना चाहते हैं, तो नीचे दिए गए संबंधित "Stories Books" खरीद सकते हैं इन पुस्तक को आप अपने बच्चों के लिए भी मंगा सकते हैं। इन किताबों में मौजूद शिक्षाप्रद कहानियां मानसिक विकास के लिए फायदेमंद साबित होती है, यदि आप मजेदार कहानियों की किताबें पढ़ने में दिलचस्पी रखते हैं तो नीचे दिए गए लिंक के माध्यम से सभी प्रोडक्ट को देखकर अपनी सहूलियत के हिसाब से खरीद सकते हैं। नीचे दिए गए लिंक से आप कोई भी प्रोडक्ट खरीदते हैं, तो आपको Best Deal और अच्छा डिस्काउंट मिल जाएगा।  संबंधित प्रोडक्ट की एक झलक आप नीचे दिये गए फोटो में देख सकते हैं।

Buy Now Stories Book-ClickHere

Hindi Stories Book

दोस्तों! आपको यह "Moral Kids Story in Hindi (Raja Ki Kahani)" कैसी लगी आप अपने सुझाव हमें नीचे कमेंट बॉक्स के माध्यम से बता सकते हैं। यदि आपको "राजा और साधु की कहानी" पसंद आई हो तो अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करें।यदि आप हमसे बात करना चाहते हैं तो हमारे Contect Us पेज और Facebook पेज पर हम से संपर्क कर सकते हैं. धन्यवाद

सभी आर्टिकल देखने के लिए-यहाँ क्लिक करें





संबंधित लेख :



Comments