Skip to main content

एक राजा की Hindi Kahani - भूखा राजा और गरीब किसान



Hindi Kahani

हमारे जीवन में कहानियो का एक विशेष महत्व है. कभी-कभी Kahaniya हमे इतना कुछ सिखा जाती है कि हमारी जिंदगी आसान हो जाती है. ऐसी ही कुछ Hindi Kahani आपके लिए इस ब्लॉग पर लिखता रहता हूं. आज की हमारी "Hindi Kahani" एक राजा के ऊपर कथित है. इस 'Hindi Kahani' का शीर्षक है- "भूखा राजा". मैं आशा करता हूं, आपको यह हिंदी कहानी पसंद आएगी.
■ दुष्ट की संगति का फल
■ कर भला तो होगा भला - हिंदी कहानी

एक राजा की Hindi Kahani - भूखा राजा

एक बार एक राजा भेष बदलकर रात में नगर का भ्रमण कर रहा था. अचानक वर्षा होने लगी. उसने एक मकान का दरवाजा खटखटाया.

 अंदर जाकर राजा ने गृहस्वामी से कहा-- "मैं कई दिनों से भूखा हूं. भूख के मारे मेरे प्राण निकल रहे हैं. जो कुछ हो, मुझे तुरंत खाने को दे दो."

ग्रह स्वामी स्वयं अपनी पत्नी व बच्चों सहित तीन दिन से भूखा था. घर में अन्न का एक दाना तक न था. वह बड़े धर्म संकट में पड़ गया. उसे समझ नहीं आ रहा था, कि वह अपने भूखे अतिथि को कहां से भोजन कराए. तभी उसके मन में एक विचार आया. वह घर से बाहर निकला, और घर के सामने एक दुकान से दो मुट्ठी चावल चुरा लाया. उस ग्रहस्वामी ने अपनी पत्नी से उन चावल को पका कर उन्हें अतिथि को खिलाने के लिए कहा.


अगले दिन दुकानदार ने राजा से पड़ोसी की शिकायत  की और कहा कि उसने दुकान से चावल चुराए हैं. राजा ने तत्काल उस व्यक्ति को बुलवाया और चावलों की चोरी के बारे में पूछा. उस व्यक्ति ने अपना अपराध स्वीकार करते हुए, बीती रात की पूरी घटना सुना दी. हाथ जोड़ कर कहा-- "महाराज मेरा स्वयं का परिवार 3 दिन से भूखा था. मैंने अपने लिए चोरी नहीं की और ना ही कभी करता, चाहे प्राण निकल जाते परंतु आधी रात में घर पर आए अतिथि को भूखा नहीं देख सकता था.

राजा यह सुनकर बहुत दुखी हुआ. उसने बताया कि अतिथि वह स्वयं था.
फिर उसने उस दुकानदार को बुलवाया और पूछा कि-- "क्या उसने अपनी दुकान से पड़ोसी को रात में चावल चुराते हुए देखा था?" दुकानदार के हां कहने पर राजा ने कहा-- "इस घटना के लिए प्रथम दोषी में स्वयं हूं. दूसरा दोषी दुकानदार है. जिसने रात में पड़ोसी को चावल चुराते देख लिया. परंतु 3 दिन तक पड़ोसी को परिवार सहित भूखा रहते नहीं देखा. इसने अपना पड़ोस धर्म नहीं निभाया."
राजा ने उस दुकानदार को जाने के लिए कहा और उस ग्रह स्वामी अथिति निष्ठा भाव से प्रसन्न होकर एक हजार सोने की असर्पियाँ उसे इनाम में दी.
शिक्षा - दोस्तो इस कहानी से हमे शिक्षा मिलती है कि- हमे अथिति का सम्मान करना चाहिए. और देखा जाए तो हमारे ग्रंथों में लिखा है कि- "अतिथि परमो धर्म" मतलब कि अतिथि का सत्कार हमारा परम धर्म है.
More Stories
■ एक साधु और राजा
 एक पिता की दिल को छू जाने वाली कहानी
■ भगवान देता है तो छप्पर फाड़ देता है - हिंदी कहानी
■ "पेड़ बन जाओ" - हिंदी कहानी
■ राजा और उसके दो बेटों की शिक्षाप्रद कहानी

आपको यह राजा की "Hindi Kahani" कैसी लगी हमें कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं. अगर आपको हिंदी कहानियां पसंद है. तो आप हमारे ब्लॉग पर ऐसे ही Hindi Kahaniya पढ़ने के लिए विजिट करते रहिए. धन्यवाद

सभी आर्टिकल देखने के लिए-यहाँ क्लिक करें



Read more articles
 हीर रांझा की अद्भुत प्रेम कहानी
■ नरवर का किला और लोड़ी माता का 200 साल पुराना इतिहास
■ रोमियो जूलियट की दर्द भरी प्रेम कहानी
■ एक लड़के की अद्भुत और विचित्र प्रेम कहानी
■ भगवान देता है तो छप्पर फाड़ देता है | हिंदी कहानी


Contects & social media Follow
Facebook
Instagram
Twitter
Official Contect Page
मेरे बारे में

Comments

Popular Posts

1 लड़की की Heart Touching Hindi Love Story | दिल को छू जाने वाली अधूरी लव स्टोरी

Love Story in Hindi : हैल्लो दोस्तों, आज मैं आपसे शेयर करूँगा एक Heart Touching Hindi Love Story जो आपके दिल को छू जाएगी। यह लव स्टोरी मेरे दिल के सबसे कारीब है। में आशा करता हूं। यह 'Hindi Love Story' आपको पसंद आएगी।    

 ■ सत्यवान सावित्री की अद्भुत  प्रेम कहानी
■ लैला मजनू की सच्ची प्रेम कहानी
■ वेलेंटाइन डे का इतिहास क्या है?
एक अधूरी लव स्टोरी (A True Love Story Hindi)
 दिल्ली......!   जितनी रफ्तार से यह सहर चलता है उतनी ही थमी थमी सी जिंदगी है यहां की। इन लोगों को देखकर ऐसा लगता है जैसे इन्हें इंतजार है किसी के आने का| इन सबके बीच मैं भी इंतजार कर रही थी। लेकिन किसी के आने का नहीं बल्कि किसी के पास जाने का।


 अब मेरे मन में थोड़ी सी भी उलझन नहीं थी बस इंतजार था, उससे मिलने का। अगर थोड़ी बहुत उलझन बची हुई थी तो उसमें इतना दम नहीं था कि वह मुझको रोक सके| मुझे लग रहा था कि मैं चिल्ला-चिल्लाकर सारी दुनिया से कह दू कि मुझे उससे प्यार हो गया है। और कल उससे इजहार करने वाली हूं।

पर बताऊं तो कैसे? काश मेरी कोई छोटी बहन होती या फिर कोई दोस्त! जिससे मैं अपने मन की बात कह पाती। मेरा …

एक लड़के की Sad Romantic Short Love Story in Hindi | विचित्र लव स्टोरी

यह Sad Romantic Sort Love Story in Hindi एक लड़के की कहानी है. जो एक लड़की से प्यार करता है. मैं आशा करता हूं आपको Short Love Story in Hindi पसंद आएगी. अगर आपको यह "Hindi Love Story" पसंद आई तो कमेंट जरुर करें.

■ एक लड़की की दिल को छू जाने वाली अद्भुत लव स्टोरी
■ एक पिता की रुला देने वाली इमोशनल कहानी
■ सावित्री और सत्यवान की विचित्र प्रेम कहानी एक लड़के की Sad Romantic Short Love Story in Hindi | विचित्र लव स्टोरी
एक अमीर लड़का था. उसे एक गरीब किसान की लड़की से प्यार हो गया. लड़की सुंदर होने के साथ-साथ काफी समझदार थी. एक दिन जब लड़के ने उस लड़की को बताया कि "वह उससे प्यार करता है, और उससे शादी करना चाहता है"  तो लड़की ने कुछ सोचने के बाद उस लड़के को शादी करने से इनकार कर दिया. क्योंकि - वह गरीब परिवार से रिश्ता रखती थी.


लेकिन कुछ समय बाद जब ये बात उस लड़के को पता चली, तो उस ने लड़की के माता-पिता से बात की और उस लड़की को समझाया. काफी समझाने के बाद वह लड़की मान गयी और दोनों की शादी हो गयी.शादी के बाद, लड़का उसे बहुत प्यार करता था. दोनों का दांपत्य जीवन काफी अच्छा च…

बसंत पंचमी की कथा | Basant Panchami Story in Hindi

Basant Panchami Story in Hindi : हेलो दोस्तों, 'बसंत पंचमी' एक हिंदू त्यौहार है, यह बात लगभग हम सभी को पता पता है. Basant Panchami Festival को पूर्वी भारत में बड़े धूमधाम से मनाया जाता है. इस दिन लोग भगवान विष्णु और Sarswati Puja करने के लिए मंदिरो मेें जाते हैं.

 शास्त्रों के अनुसार बसंत पंचमी का महत्व हिंदू धर्म में विशेष माना जाता है. इस वर्ष 'Basant Panchami' सोमवार 22 फरवरी को मनाई जाएगी. पूर्वी भारत में लोग बसंत पंचमी को श्री पंचमी और ऋषि पंचमी के नाम से भी जानते हैं. Basant Panchami के इस पावन अवसर पर आज हम आपसे शेयर करेंगे 'Basant Panchami Story in Hindi'.


ग्रामीण क्षेत्रों में देखा जाए तो बसंत पंचमी के बारे में कई कहानियां प्रचलित हैं. लेकिन शास्त्रों में जिस कहानी का उल्लेख मिलता है. उस बसंत पंचमी की कथा को आज हम आप लोगों से शेयर करेंगे. तो चलिए चलते हैं "Basant Panchami Story in Hindi" की तरफ और जानते हैं इस खास पर्व के बारे में.
बसंत पंचमी की कथा - Basant Panchami Story in Hindi
Basant Panchami की कथा इस पृथ्वी के आरंभ काल से जुड़ी हुई है.…